jara sochiye

समाज में व्याप्त विक्रतियों को संज्ञान में लाना और उनमे सुधार के प्रयास करना ही मेरे ब्लोग्स का उद्देश्य है.

249 Posts

1561 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 855 postid : 1306828

अपराध नियंत्रण का अनोखा प्रयास

Posted On 12 Jan, 2017 Social Issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

किसी भी प्रशासनिक,सामाजिक,वैज्ञानिक शोध के लिए पहले मन में कल्पना विकसित होती है,फिर उसकी रूप रेखा तैयार की जाती है,तत्पश्चात उसे कार्य रूप देने के लिए रणनीति कारों और विशेषज्ञों की योग्यता, अनुभव और तथ्यों(आंकड़ो) के आधार  पर आगे की योजना बनायीं जाती है.यदि निति निर्माताओं,अधिकारियों, प्रशासनिक आकाओं की दृढ इच्छा शक्ति हो तो किसी भी योजना से वांछित लक्ष्य प्राप्त करना असंभव नहीं होता.

प्रस्तुत लेख में मैं अपनी कल्पना की एक रूप रेखा सबके समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ,शायद पाठकों को पसंद आय और मेरी कल्पना को साकार रूप देने के लिए मेरी बात को सक्षम अधिकारी तक पहुँचाने का प्रयास करें. अनुभवी विशेषज्ञ अपने प्रशासनिक अनुभव के आधार पर नियम और रणनीति तैयार कर योजना को कार्यान्वित कर जनता को लाभ पहुंचाएं.क्योंकि इस योजना में सारी योजना का सहयोगियों की सहभागिता को गुप्त रखा जाता है इसलिए इस योजना की सफलता निश्चित तौर पर होनी चाहिए.

मेरी कल्पना का उद्देश्य है, क्षेत्र विशेष की जनता को भ्रष्टाचार,लालफीता शाही से मुक्त होकर, निरंतर बढ़ रही अपराधिक और गुंडागर्दी की गतिविधियों से निजात दिलाई जा सके. इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक शहर को आवश्यकतानुसार कम से कम सौ क्षेत्रों में विभक्त किया जाए, जिसका प्रभारी शहर के किसी उच्च पुलिस अधिकारी को बनाया जाय जैसे एस पी,या एस एस पी. हो सकते हैं.प्रत्येक वर्ग यानि व्यापारी, कारोबारी, दुकानदार, डॉक्टर एवं अन्य सामान्य जन जो क्षेत्र की प्रत्येक जाति या धर्म का प्रतिनिधित्व करते हों, में से कम से कम सौ व्यक्तियों को अस्थायी या सीजनल अधिकारी चुना जाय. इन सभी अधिकारियों के संपर्क सूत्र, पते सहित नाम क्षेत्र प्रभारी के पास दर्ज करा दिए जाएँ,जिन्हें कोई कोड नंबर दिया जाए. ताकि क्षेत्राधिकारी अपना कोड नंबर बता कर सीधे तौर पर क्षेत्र प्रभारी से संपर्क बना सके और अपनी या अपने क्षेत्र की समस्या (अपनी गली,अपने शहर,या मोहल्ले की समस्याएँ) उसे बता सके और अपने क्षेत्र के अपराधियों की पहचान और उसकी गतिविधियों के बारे में गुप्त रूप से सूचना दे सके. क्षेत्र प्रभारी को निर्देशित किया जाय की वह अपने क्षेत्र अधिकारी की समस्या को ध्यान से सुने और उसके समाधान के लिए त्वरित तौर पर सार्थक कदम उठाये.यदि आवश्यकता हो तो उसकी सहायता के लिए सचल दल तुरंत भेजने की व्यवस्था की जाये. परन्तु क्षेत्राधिकारी की पहचान को गुप्त रखा जाय. क्षेत्राधिकारी को अपने क्षेत्र में स्थित सभी सरकारी कार्यालयों की गतिविधियों को अपने क्षेत्र के प्रभारी को बताने के पूरा पूरा अधिकार होगा जिसे क्षेत्र प्रभारी गंभीरता से लेगा और अवश्कतानुसार तथ्यों की जानकारी प्राप्त कर उचित कार्यवाही के दिश निर्देश जारी करेगा. अस्थायी क्षेत्राधिकारी की नियुक्ति, अवैतनिक,एवं अत्यंत गोपनीय ढंग से की जानी चाहिए,और वह अपनी नियुक्ति को सार्वजानिक भी नहीं करेगा. उसे शपथ लेनी होगी की वह अपने क्षेत्र के स्वस्थ्य विकास के लिए कृत संकल्प होगा और किसी से  बदले की भावना से अपने अधिकारों का उपयोग नहीं करेगा,और अपने अधिकारों की आड़ में कोई अपराधिक कार्य नहीं करेगा. वह अपने क्षेत्र में अपराध नियंत्रण में प्रशासन का सहयोग करेगा.

उपरोक्त अस्थायी क्षेत्र अधिकारी की नियुक्ति कुछ माह तक सीमित हो सकती है जिसका कार्यकाल जिले के प्रशासनिक अधिकारी नियत करें. क्षेत्राधिकारी का कार्य काल समाप्त होने पर दोबारा भी नियुक्ति की जा सकती है जो क्षेत्र प्रभारी के विवेक पर निर्भर करेगा. क्षेत्र अधिकारी जिला अधिकारी के समर्थन से अगले सीजन के लिए अस्थायी अधिकारियों की नियुक्ति करेगा जिलाधिकारी समय समय पर क्षेत्र प्रभारी से उसके क्रियाकलाप की समीक्षा करेगा. कार्य मुक्त क्षेत्राधिकारी को शासन की ओर से उसके योगदान के लिए प्रशंसा पत्र दिया जाय और भविष्य में भी उसकी शिकायतों को सुनने में प्राथमिकता दी जाय. उसकी कार्य अवधि समाप्त होने पर उससे उसके क्षेत्र सम्बन्धी समस्याओं,और उसके अनुभवों, को समझ कर उनका आंकलन करें,और आगे की रणनीति तय करें.यदि उस क्षेत्र की कोई समस्या शेष रह गयी हो तो उसका स्थायी समाधान करने का प्रयास  करें.

उपरोक्त सभी क्रिया कलाप एवं कार्य योजना का मेरा मकसद अपराधिक व्यक्तियों के मन में दहशत पैदा करना एवं थानों, सरकारी दफ्तरों में होने वाले भ्रष्टाचार से जनता को राहत देना है और आम जनता को बड़े अधिकारियों के समक्ष सीधे तौर पर अपनी समस्यों को रखने का अवसर प्रदान करना है. यदि किसी पाठक सक्षम अधिकारी को मेरा सुझाव पसंद आय, उस पर अमल करने के लिए योजना को कार्यान्वित कर सकते हैं.(SA-152B)

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Shobha के द्वारा
14/01/2017

श्री सत्य शील जी सही प्रयास


topic of the week



latest from jagran